सामूहिक अवकाश के तीसरे दिन मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन सीडीओ को सौपा

गोरखपुर। सामूहिक अवकाश लेकर कार्य बहिष्कार के तीसरे दिन शुक्रवार को ग्राम विकास अधिकारी एवं ग्राम पंचायत अधिकारी समन्वय समिति के तत्वाधान में मुख्य विकास अधिकारी को वेतन विसंगति से समबंधित 3 सूत्रीय मांगों का मुख्यमंत्री को संबोधित पत्रक दिया गया।


इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष ग्राम विकास अधिकारी एसोसिएशन गंगेश शुक्ल, जिलाध्यक्ष आशुतोष सिंह, महामंत्री संजय दुबे एवं प्रांतीय प्रतिनिधि आदित्य कुमार सिंह,ग्राम पंचायत अधिकारी संघ अध्यक्ष अनीश चौधरी ,महामंत्री रमेश चंद कुशवाहा एवं अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।
गोरखपुर जिले की 1352 ग्राम पंचायतों में सेवाएं देने वाले 282 ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी एवं पंचायत सचिव शुक्रवार को भी सामूहिक अवकाश रहे। आंदोलित कर्मचारी अपनी तीन सूत्री मांगों के समर्थन पर बुधवार से सामूहिक अवकाश लेकर कार्य बहिष्कार पर हैं। कर्मचारियों के आंदोलन के कारण ब्लाकों में काम काज ठप है।
 ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी समन्वय समिति की जिला ईकाई की अगुवाई में यह आंदोलन संचालित हो रहा है। इसके चलते कामकाज प्रभावित है। ब्लाकों पर आने वाले फरियादी ताला देख लौट जा रहे हैं। ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी के समन्वक समिति के जिलाध्यक्ष आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि उनकी मांग है कि ग्रापअ/ग्राविअ की शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट के स्थान पर स्नातक की जाए। वेतनमान 5200-20200 ग्रेड वेतन 2800 रुपये अर्थात सातवें वेतन आयोग की मैटिक्स के सापेक्ष लेवल पांच पर प्रारम्भिक मूल वेतन 29200 रुपये प्रदान किए जाएं। जिलामंत्री संजय कुमार दुबे एवं ग्रापंअ संघ के जिला अध्यक्ष अनिश चौधरी ने सीधी भर्ती के सापेक्ष प्रोन्नत कम से कम 30 प्रतिशत पद सृजित कर दस वर्ष पर प्रथम प्रोन्नति, 16 वर्ष पर द्वितीय तथा 26 वर्ष पर तृतीय प्रोन्नन्ति की जाए व अन्य मागें हैं। जिला महामंत्री रमेश चंद्र कुशवाहा ने कहा कि अगर हमारी प्रमुख मांगों को जल्द पूरा नहीं किया गया तो जल्द ही प्रदेश कार्यकारणी के दिशा निर्देश पर व्यापक आन्दोलन किया जाएगा। कहा कि वे केन्द्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं को सही कियान्वित कर रहे लेकिन सरकार हम लोगों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


Popular posts