सड़क पर रहने वालों बच्चों को एसपी ट्रैफिक ने खिलौना देकर लौटाया उनका बचपन

सड़क पर रहने वालों बच्चों को एसपी ट्रैफिक ने खिलौना देकर लौटाया उनका बचपन


लॉक डाउन में खाने लेने की होड़ के बीच खिलौनों को भूल गए थे मासूम, खिलौने पाकर बच्चों के खिले चेहरे


गोरखपुर । बरसों से शहर की सड़को के किनारों को अपना आशियाना बनाये हुए एक वर्ग लॉक डाउन के समय में खाने की जद्दोजेहद में समय गुज़ार रहा है।इस वर्ग के मासूम पेट की आग को शांत करने की मशक़्क़त में ही अपना दिन गुज़ार रहे हैं । सड़क पर गुज़रने वाली हर गाड़ी को ये मासूम बड़ी उम्मीद से देखते हैं क्योंकि इन्ही तमाम गाड़ियों के बीच कुछ ऐसी भी गाड़ियां यहां से गुजरती हैं जिनके दरवाज़े जब खुलते हैं तो मानो उनकी उम्मीदों का पिटारा खुल गया हो। क्योंकि यह वह गाड़ियां होती है जिनमें इन सबके लिए खाने का सामान होता है। 
लॉक डाउन के दरमियान गोरखपुर के एक अधिकारी की गाड़ी ने सड़क के किनारे रहने वालों और उनके मासूम बच्चों के बीच ऐसी ही पहचान बना लिया ।गोरखपुर के पुलिस अधीक्षक यातायात आदित्य प्रकाश वर्मा की गाड़ी जैसे ही बच्चों को दिखती है ये सब उसी ओर दौड़ पड़ते हैं इस उम्मीद से की आज उनके लिए साहब क्या लेकर आये हैं।
कभी बिस्कुट कभी टॉफी चॉकलेट तो कभी चिप्स के पैकेट देने वाले एसपी ट्रैफिक सोमवार को जब इन मासूम बच्चों के बीच पहुंचे तो उनके हाथों में खिलौने देखकर बच्चे खुशी से झूम उठे।
लॉक डाउन में खाना लेने की होड़ के बीच यह मासूम खिलौनों को बिल्कुल भूल गए थे लेकिन सड़क पर रहने वालों इन बच्चों को एसपी ट्रैफिक ने खिलौना देकर उनका बचपन लौटा दिया।


Popular posts